इतिहास का सबसे गर्म साल होगा 2016 !

0
361

warmest-year-in-historyनई दिल्ली. मौजूदा साल यानि 2016 वैश्विक आधार पर सबसे गर्म साल साबित होगा. आंकड़े इसी ओर इशारा कर रहे हैं. इस साल के शुरुआती नौ महीनों के आंकड़ों पर ग़ौर करने के बाद वैज्ञानिक 90 फीसदी निश्चित हैं कि साल 2016, तापमान के मामले में 2015 को पीछे छोड़ देगा.

विश्व मौसम विज्ञान संगठन (डब्ल्यूएमओ) के मुताबिक़ जनवरी से सितंबर के बीच तापमान, औद्योगिकीकरण से पहले के दौर की तुलना में 1.2 डिग्री सेल्सियस अधिक दर्ज किया गया.

इस संस्था का मानना है कि साल के बाक़ी दिन भी तापमान ज़्यादा रहेगा, जिसकी वजह से पिछला रिकॉर्ड टूट सकता है.

तापमान बढ़ाने का सबसे बड़ा कारण कार्बन उत्सर्जन है. हालांकि अल-नीनो का असर भी इस पर पड़ा है.

डब्ल्यूएमओ महासचिव पेटरी तलास ने कहा, ‘एक और साल, एक और रिकॉर्ड. साल 2015 में जो हमने सबसे ऊंचा तापमान दर्ज किया था, वो साल 2016 में टूटने वाला है.‘

उन्होंने कहा, ‘पर्यावरण बदलाव की वजह से मौसम संबंधी भीषण हालात बन रहे हैं. लू चलना और बाढ़ आना सामान्य होता जा रहा है. समंदर का स्तर बढ़ने की वजह से चक्रवात से जुड़े हालात बनने लगे हैं.‘

डब्ल्यूएमओ के आकलन के मुताबिक 17 में से 16 सबसे गर्म साल इसी सदी में दर्ज किए गए हैं. इस मामले में साल 1998 अपवाद है.

2016 will be the warmest year in history

Tags: Global Warming, 2016 History, Year 2016, Warmest Year in History, Hottest Year Of History, 2016 Warmest Year in History hindi, Warmest Year in World History, Hindi News

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here