वसुंधरा राजे को हटाने का प्रस्तान नहीं

0
489

जयपुर. राजस्थान उपचुनावों में मिली करारी हार के बाद से मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे और प्रदेशाध्यक्ष अशोक परनामी को अटकलें लगाई जा रही है. हालांकि अब ऑफ द रिकार्ड ये बात सामने आ रही है कि सीएम राजे को उनके पद से हटाने का कोई प्रस्ताव नहीं है. हालांकि यह जग जाहिर है कि मोदी-शाह की जोड़ी राजे को पसंद नहीं करती है.

जानकारों की माने तो मोदी-शाह का दोषी मुख्यमंत्रियों के साथ निपटने का अपना ही तरीका है. वे ऐसे नेताओं को खुद की राजनीतिक मौत मरने की अनुमति देते हैं. उदाहरण के लिए मोदी हिमाचल के बीजेपी नेता पी.के. धूमल को पसंद नहीं करते. परिणाम यह हुआ कि राज्य में बीजेपी जीत गई और धूमल हार गए. इसलिए जब राजस्थान विधानसभा के चुनाव होंगे तो हरेक को स्थिति को सावधानीपूर्वक देखना होगा.

बता दें चुनाव से पहले वसुंधरा राजे ने मोदी-शाह से मुलाकात की भरपूर कौशिश की थी. जब उपचुनाव का समय आया तो वह चाहती थीं कि पार्टी हाई कमान 2 संसदीय सीटों के लिए उम्मीदवारों के नामों की घोषणा करे मगर अमित शाह ने वसुंधरा को ‘फ्री हैंड’ दे दिया. वह चाहती थीं कि मोदी चुनाव प्रचार करें और कम से कम एक रैली को संबोधित करें.

उन्होंने ऐसा इसलिए किया ताकि चुनाव हार में दोष उन पर न आए. उपचुनावों के परिणामों में वह बुरी तरह पराजित हुई हैं और इस संबंध में गहरी चुप्पी छाई हुई है.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here