त्रिपुरा, मेघालय और नागालैंड में चुनावी तारीखों का ऐलान हुआ

0
215

नई दिल्ली. चुनाव आयोग ने त्रिपुरा, मेघालय और नगालैंड में विधानसभा चुनावों की घोषणा कर दी है. इन तीन राज्यों के विधानसभा चुनाव दो चरणों में करवाए जाएंगे. पहले चरण में 18 फरवरी को त्रिपुरा में वोटिंग होगी. दूसरे चरण में 27 फरवरी को मेघालय और नगालैंड में वोटिंग होगी. 3 मार्च को तीनों राज्यों में हुए विधानसभा चुनावों के लिए काउंटिंग होगी और नतीजों की घोषणा की जाएगी. तीन ही राज्यों में विधानसभा की 60-60 सीटें है.

इन तीनों राज्यों के विधानसभा चुनावों में वीवीपैट का इस्तेमाल होगा. चुनाव आयोग के मुताबिक हर विधानसभा सीट के एक पोलिंग स्टेशन पर वीवीपैट से वोटिंग होगी और स्लिप की काउंटिंग की जाएगी. चुनाव आयोग की इस घोषणा के साथ ही तीनों राज्यों में चुनावी आचार संहिता लागू हो गई है. इस बार इन तीनों राज्यों में विधानसभा चुनावों की रोचक तस्वीर देखने को मिल रही है.

तीन राज्यों में कुछ ऐसी बन रही है सियासी तस्वीर
2014 के लोकसभा चुनावों के बाद बीजेपी ने नॉर्थ ईस्ट में भी अपनी पकड़ मजबूत बनानी शुरू कर दी है. पहले असम और बाद में मणिपुर की सत्ता में आने के बाद बीजेपी की निगाह अब त्रिपुरा, मेघालय और नगालैंड के विधानसभा चुनावों पर है.

त्रिपुरा में पिछले दो दशक से माणिक सरकार के नेतृत्व में सीपीएम यहां की सत्ता पर काबिज है. 60 सीटों वाले त्रिपुरा 2013 के विधानसभा चुनावों में सीपीएम को 49 सीटों पर जीत मिली थी, जबकि कांग्रेस के खाते में 10 सीटें आईं थीं. हालांकि इस बार राजनीति थोड़ी बदली है. ऐसा पहली बार देखने को मिल रहा है कि किसी राज्य में कम्युनिस्ट पार्टी और बीजेपी में सीधी टक्कर हो रही है.

नगालैंड में बीजेपी के सामने सरकार बचाने की चुनौती
नगालैंड विधानसभा में भी 60 सीटें हैं. यहां नगा पीपल्स फ्रंट बीजेपी के समर्थन से अपनी सरकार चला रहा है. बीजेपी के सामने चुनौती है कि नगालैंड में एनडीए की सत्ता बनी रहे. बिहार और केंद्र में बीजेपी की सहयोगी जेडीयू ने नगालैंड में अकेले चुनाव लड़ने की घोषणा कर दी है. फिलहाल नगालैंड के सत्तारूढ़ गठबंधन में जेडीयू भी शामिल है. बीजेपी ने नगालैंड के लिए गृह राज्यमंत्री किरेन रिजिजू को चुनाव प्रभारी बनाया है.

कांग्रेस की चिंता मेघालय 
देश में पांच राज्यों में कांग्रेस की सरकार है. इसमें एक मेघालय भी है. कांग्रेस की असल चिंता इस बार किसी भी तरह मेघालय में सरकार को बचाने की है. 2013 में मेघालय विधानसभा चुनावों की 60 सीटों में से कांग्रेस को 29 सीटें मिलीं थीं.

हालांकि बीजेपी ने यहां भी कांग्रेस के गढ़ में सेंध लगा दी है. दिसंबर में कांग्रेस के एक सहित 4 विधायकों ने बीजेपी का दामन थाम लिया है.

इस महीने भी कांग्रेस के 5 सहित आठ विधायक मेघालय में एनडीए की सहयोगी नैशनल पीपल्स पार्टी (एनपीपी) में शामिल हुए हैं.

Tags: Tripura Meghalaya And Nagaland Poll Schedule, Tripura Meghalaya And Nagaland Assembly Elections 2018, Tripura, Meghalaya, Nagaland,  Assembly Elections 2018, Election Commission Of India, Latest Hindi News

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here