सुप्रीम कोर्ट का आदेश बनेगा आडवानी-जोशी के राष्ट्रपति बनने में अड़चन !

0
451

presidential-election-Advani-Joshi-2017नई दिल्लीः बीजेपी के वरिष्ट नेता लालकृष्ण आडवाणी और मुरली मनोहर जोशी के नाम अगले राष्ट्रपति पद के लिए चल रहे हैं. ऐसे में ये सवाल खड़ा हो गया है कि अयोध्या मामले में बुधवार को आया सुप्रीम कोर्ट का ताजा फैसला उनके भविष्य पर क्या कोई असर डालेगा? संविधान विशेषज्ञ सुभाष कश्यप के मुताबिक मामला सिर्फ नैतिकता का है. कानून में कुछ भी ऐसा नहीं है कि जिसके खिलाफ कोई आपराधिक केस चल रहा हो वह चुनाव नहीं लड़ सकता. वैसे भी हर व्यक्ति तब तक निर्दाेष है, जब तक कि उसे कानूनी तौर पर दोषी नहीं करार दिया जाता. इन नेताओं के खिलाफ जो भी आरोप हैं, अभी ट्रायल के विषय हैं. ट्रायल के बाद ही तय होगा कि वे दोषी हैं या नहीं. ऐसे में कानूनी तौर पर चुनाव लड़ने को लेकर कोई अड़चन नहीं है.

वहीं इस सवाल पर केंद्रीय वित्त मंत्री अरुण जेटली ने कहा, ’यह काल्पनिक सवाल है.’ जब उनसे पूछा गया कि क्या उमा भारती को केंद्रीय मंत्रिमंडल से इस्तीफा देना चाहिए? इस सवाल के जवाब में जेटली ने कहा ’यदि यह पैमाना है तो कांग्रेस के कुछ मौजूदा मुख्यमंत्री को इस्तीफा देना होगा. यदि आरोप-पत्र (इस्तीफा देने का) रूल हो तो हिसाब लगाएं कि कांग्रेस के कितने मुख्यमंत्रियों को जाना पड़ेगा?

कांग्रेस ने क्या कहा
-उम्मीद करें, पीएम इस बार नहीं भूलेंगे जहां तक अन्य मामले की बात हो तो हमारे प्रधानमंत्री नैतिकता के प्रति हमेशा ही बड़े प्रतिबद्ध होते हैं. यह उनकी सार्वजनिक घोषणा है. लेकिन जब उनके मंत्रियों की बात हो तो वह कभी-कभी भूल जाते है. हम उम्मीद करें कि वह इस बार यह नहीं भूलेंगे. -कपिल सिब्बल, कांग्रेस नेता

-दोषी दंडित हों सुप्रीम कोर्ट ने बोला है. न्याय होना चाहिए, दोषी दंडित हों. पीएम यह सुनिश्चित करें कि उनके मंत्री ’उच्च नैतिकता’ बनाए रखें. कानून सबके लिए बराबर है. –रणदीप सुरजेवाला, मुख्य प्रवक्ता, कांग्रेस

मोदी ने आडवाणी को रेस से हटायाः लालू
मोदी ने आडवाणी को रेस से हटाया. सीबीआई प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के ’कंट्रोल’ में है. उन्होंने इसका इस्तेमाल कर आडवाणी को दरकिनार और राष्ट्रपति पद की रेस से बाहर कर दिया है. सभी जानते हैं कि सीबीआई वही करती है, जो सरकार कहती है. यह पीएम की सोची-समझी राजनीति है. -लालू प्रसाद, राजद अध्यक्ष

सुप्रीम कोर्ट के फैसले पर कोई प्रतिक्रिया देने से पहले भाजपा उसका गहराई से अध्ययन करेगी. पार्टी आडवाणी, जोशी, उमा भारती का बहुत सम्मान करती है. –रवि शंकर प्रसाद, वरिष्ठ भाजपा नेता व केंद्रीय मंत्री

Tags: India, presidential election, BJP Presidential Election face, Lal Krishna Advani, Murli Manohar Joshi, Supreme Court, Babri demolition case, India Presidential Election 2017, Hindi News

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here