अब एक दिन में 50 हजार श्रद्धालु ही कर सकेंगे वैष्णो देवी के दर्शन

0
331

नई दिल्लीः एनजीटी ने माता वैष्णो देवी धाम को लेकर अहम और बड़े फैसले सुनाए हैं. अब माता वैष्णो धाम में किसी भी प्रकार के निर्माण कार्य पर रोक लगा दी है. इसके साथ ही एनजीटी ने कहा है कि माता के दर्शन के लिए आने वाले भक्तों की संख्या को भी नियंत्रित किया जाए. अब एक दिन में 50 हजार श्रद्धालु ही माता के दर्शन कर सकेंगे. एनजीटी ने कहा है कि यदि यात्रा के दौरान 50 हजार से ज्यादा यात्री हो जाएं तो उन्हें या तो कटरा में ही रोका जाए या फिर उन्हें यात्रा के मुख्य पड़ाव अर्धकुआंरी में ही रोका जाए. एनजीटी ने कहा है कि माता के भवन पर किसी भी स्थिति में ज्यादा संख्या में भीड़ ना पहुंचे.

एनजीटी ने श्राइन बोर्ड से कहा है कि 24 नवंबर तक वह श्रद्धालुओं के लिए नया रास्ता खोले. नए रास्ते पर सिर्फ बैटरी कारें और श्रद्धालु चलेंगे. इस रास्ते पर टट्टू भी नहीं चलेंगे. एनजीटी ने कटरा में गंदगी करने पर 2000 रुपये जुर्माना लगाने का आदेश दिया है. बता दें कि माता वैष्णो देवी श्राइन बोर्ड ही वैष्णो देवी भवन और यात्रा से संबंधित सभी सुविधाओं की देख रेख करता है. राज्य के राज्यपाल इसके प्रमुख होते हैं.

गौरतलब है कि माता वैष्णो देवी की यात्रा पर प्रतिदिन हजारों की संख्या में श्रद्धालु पहुंचते है. जम्मू कश्मीर के रियासी जिले की कटरा तहसील से मां वैष्णो देवी की 14 किलोमीटर की यात्रा शुरू होती है. आमतौर पर गर्मियों की छुट्टियों के दिनों में यहां श्रद्धालुओं की संख्या काफी बढ़ जाती है. यह यात्रा कटरा में बाण गंगा से शुरू होती है. माता वैष्णो देवी की यात्रा के दौरान पहला पड़ाव चरण पादुका, दूसरा पड़ाव अर्धकुआंरी गुफा तीसरा पड़ाव मां वैष्णो देवी का भवन और चौथा व अंतिम पड़ाव भैरों घाटी आते हैं.

NGT set limits of pilgrims for mata vaishno devi yatra

Tags: NGT, Mata Vaishno Devi Shrine Board, Vaishno Devi pilgrims, Mata Vaishno Devi, Mata Vaishno Devi yatra, limits of mata vaishno devi yatra, mata vaishno devi yatra limitations

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here