कम हुआ अल निनो का इफेक्ट, जमकर होगी इस साल बारिश

0
652

नई दिल्लीः इस साल बारिश जमकर होगी. मौसम विभाग ने अप्रैल में जारी अपने अनुमान को अपडेट किया है. अब सामान्य की 98 पर्सेंट तक वर्षा होने का अनुमान दिया है. मौसम विभाग का कहना है कि ऐसा वैश्विक स्थितियों में अनुकूल बदलावों के कारण होगा. खासतौर से प्रशांत महासागर में अल निनो इफेक्ट पैदा होने की कमजोर स्थिति के कारण ऐसा होगा. यह अनुमान किसानों के साथ साथ देशवासियों के लिए भी राहत भरा है.

भारत के मौसम विभाग ने जुलाई और अगस्त के अहम महीनों में अच्छी मॉनसूनी गतिविधि का अनुमान जताया है, जिनमें होने वाली बारिश का फसलों पर सबसे ज्यादा असर होता है. विभाग के एक सीनियर अधिकारी ने कहा, ’आईएमडी के मॉडल के अनुसार, मॉनसून सीजन के दौरान अल निनो की कम आशंका है. साउथ वेस्ट मॉनसून पर हम अल निनो के कम से कम असर की उम्मीद कर सकते हैं.’

इंडिया के इस अनुमान को ऑस्ट्रेलियन वेदर ऑफिस के अनुमान से भी सपोर्ट मिला, जिसने कहा कि प्रशांत महासागर के कुछ हिस्सों में तापमान को असामान्य ढंग से बढ़ा देने वाले अल निनो का बढ़ना रुक गया है, हालांकि उसकी आशंका को अभी पूरी तरह खारिज नहीं किया जा सकता है.

मंगलवार को ऑस्ट्रेलियाई मौसम विभाग ने कहा कि पहले डिवेलप हो चुके अल निनो इंडिकेटर्स में पिछले कुछ सप्ताहों में या तो बेहद मामूली प्रगति हुई है. इसमें कहा गया है, सी सरफेस का तापमान पूरे ट्रॉपिकल पैसिफिक में सामान्य से अधिक है. हालांकि, हाल के सप्ताह में इसमें कुछ कमी आई है.

दक्षिण-पश्चिम मॉनसून पर पिछले लॉन्ग रेंज फोरकास्ट में मौसम विभाग ने इस सीजन में बारिश के लॉन्ग टर्म एवरेज का 96 पर्सेंट रहने की बात कही थी. उसने यह भी कहा था कि 100 पर्सेंट बारिश की 38 पर्सेंट संभावना है. अब यह संभावना बढ़कर 50 पर्सेंट हो गई है. उत्तर-पश्चिम भारत में बारिश एलपीए का 96 पर्सेंट, मध्य भारत में एलपीए का 100 पर्सेंट, दक्षिण में एलपीए का 99 पर्सेंट और उत्तर-पूर्व में 96 पर्सेंट रह सकती है. मौसम विभाग ने कहा है कि इसमें 8 पर्सेंट प्लस या माइनस के मॉडल एरर की भी गुंजाइश है. अगर अल निनो का प्रभाव दिखता है तो मॉनसून पर पड़ने वाले इसके नेगेटिव असर की भरपाई पॉजिटिव इंडियन ओशन डायपोल से हो जाएगी. अधिकारी ने बताया, मॉनसून सीजन में पॉजिटिव इंडियन ओशन डायपोल की संभावना बन सकती है. उन्होंने इंडियन ओशन में तापमान में हो रहे बदलाव का जिक्र करते हुए यह बात कही. मौसम विभाग ने कहा है कि कम बारिश की आशंका 7 पर्सेंट थी, जबकि सामान्य से अधिक बारिश के आसार 28 पर्सेंट तक है. इसमें 90-96 पर्सेंट तक बारिश होगी. वहीं, 104-110 पर्सेंट की बारिश की 13 पर्सेंट संभावना है. हालांकि, 110 पर्सेंट से अधिक बारिश की संभावना सिर्फ 2 पर्सेंट है. मॉनसून सीजन जून से शुरू होकर सितंबर तक चलता है.

Monsoon forecast 2017 al nino risk reduced it will be raining

Tags: Monsoon, Rain, Monsoon forecast, Rain forecast 2017, Meteorological Department, Al Nino, Al Nino Effect, Monsoon update, rainfall normal,  Met Department, Hindi News

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here