यौन हिंसा खिलाफ शुरू हुआ #MeToo कैम्पेन बना ‘टाइम पर्सन ऑफ द ईयर‘

0
156

नई दिल्ली. महिला हिंसा के खिलाफ शुरू हुए ‘मी-टू‘ कैम्पेन को 2017 का ‘टाइम पर्सन ऑफ ईयर‘ चुना गया है. प्रतिष्ठित टाइम मैगजीन ने अमेरिका में पहले कभी हुए यौन शोषण, यौन प्रताड़न या यौन हिंसा का खुलासा करने वाली महिलाओं को इस साल का ‘पर्सन ऑफ द ईयर‘ घोषित किया है. उसने इन्हें ‘द साइलेंस ब्रेकर्स‘ नाम दिया है. अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप इस सूची में दूसरे स्थान पर रहे. उनके बाद चीन के राष्ट्रपति शी चिनफिंग का नाम रहा.


टाइम ने प्रतिष्ठित सामाजिक लोगों द्वारा अतीत में किये गये यौन प्रताड़ना, यौन हमला और बलात्कार आदि का खुलासा करने के लिए सामने आयी महिलाओं को ‘साइलेंस ब्रेकर्स‘ का दर्जा दिया.

उल्लेखनीय है कि कई प्रतिष्ठित अभिनेत्रियों ने खुलासे के चले अभियान में हॉलीवुड के बड़े निर्माता हार्वे वींसटाइन पर यौन शोषण के आरोप लगाये थे. उसके बाद ‘मी टू‘ हैशटैग के साथ दुनिया भर में आम महिलाओं ने भी अपने अनुभवों का खुलासा करना शुरू किया था.

टाइम द्वारा पहचाने गये लोगों में अभिनेत्री एश्ले जुड का नाम भी शामिल रहा जो वींसटाइन के खिलाफ यौन शोषण का आरोप सार्वजनिक करने वाली पहली अभिनेत्री थी.

me too campaign time person of the year 2017

Tags: me too campaign, time person of the year 2017, #MeToo campaign, time person of the year, donald trump, hindi news

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here