जयपुर के नाहरगढ़ किले से लटके मिले शख्स की फोरेंसिक रिपोर्ट का खुलासा

0
316

जयपुर. बीते दिनों जयपुर के नाहरगढ़ किले से लटके मिले चेतन सैनी नाम के शख्स की मौत पर फोरेंसिक जांच रिपोर्ट(एफएसएल) की रिपोर्ट आ गई है. रिपोर्ट के मुताबिक, चेतन सैनी की हत्या नहीं की गई थी, बल्कि उसने आत्महत्या की थी. रिपोर्ट में कहा गया है कि चेतन सैनी की लाश के पास किसी दूसरे व्यक्ति के आने का सबूत नहीं मिला है.

फोरेंसिक रिपोर्ट में यह भी कहा गया है कि चेतन सैनी की लाश के इर्द-गिर्द पत्थरों पर फिल्म और ऐतिहासिक पात्र पद्मावती से जोड़कर लिखे गए नारे खुद चेतन की हैंडराइटिंग में ही थे. फोरेंसिक रिपोर्ट के अनुसार, पत्थरों पर लिखे मिले सांप्रदायिक उन्माद के नारों की हैंडराइटिंग चेतन की डायरी में दर्ज हैंडराइटिंग से मिल रही है.

इतना ही रिपोर्ट में यह भी कहा गया है कि पत्थरों पर लिखे नारे फ्री हैंडराइटिंग हैं, इसका मतलब किसी ने जबरन नहीं लिखवाया है. रिपोर्ट में कहा गया है कि जब किसी से कोई चीज जबरन लिखवाई जाती है तो उसका हाथ कांपता है. ऐसे में व्यक्ति की मूल हैंडराइटिंग से वह थोड़ा बदल जाती है.

इतना ही नहीं नाहरगढ़ किले में पत्थरों पर लिखे नारे पूरे होशो-हवास में स्वतंत्र रूप से लिखे लगते हैं. चेतन सैनी के शरीर पर किसी तरह के चोट के निशान भी नहीं मिले, जो उसके साथ जोर-जबरदस्ती या मारपीट की भी पुष्टि नहीं करते. मतलब रिपोर्ट साफ-साफ आत्महत्या की ओर ही इशारा करती हैं.

चेतन सैनी के शरीर के एक साइड में ही खरोंच के निशान मिले थे. इस पर रिपोर्ट में कहा गया है कि चेतन सैनी को ये खरोंचें किले की दीवार पर चढ़ने के बाद से खुद को फांसी पर लटकाने के दौरान दीवार से रगड़ने के चलते हुए लगी होंगी. चेतन के शरीर का कोई अंग टूटा-फूटा भी नहीं था.

विसरा जांच में यह भी पता चला है कि चेतन सैनी के शरीर में किसी तरह का अल्कोहल या ड्रग्स या कोई भी नशीला पदार्थ मौजूद नहीं था. चेतन सैनी ने मौत से ठीक पहले सेल्फी भी ली थी, जिसकी जांच भी की गई. सेल्फी की जांच में सामने आया है कि तस्वीर में किसी अन्य व्यक्ति की परछाईं तक नहीं है.

ज्ञात हो कि नाहरगढ़ किले से चेतन सैनी की रस्सी से झूलती लाश जब मिली थी, तब पूरे देश में फिल्म पद्मावती को लेकर जबरदस्त हंगामा मचा हुआ था. चेतन सैनी की लाश के इर्द-गिर्द पत्थरों पर पद्मावती से ही जुड़े ढेरों नारे भी लिखे मिले थे, जिनमें सांप्रदायिक उन्माद की बातें थीं.

एसएफएल रिपोर्ट तैयार करने के लिए चेतन सैनी की लिखी कई डायरियां जब्त की थीं, उसके मोबाइल फोन, जूतों, नॉयलन की रस्सी और उसके लैपटॉप में सेव दस्तावेजों की भी जांच की है.

jaipur nahargarh fort chetan saini suicide fsl report

Tags: jaipur nahargarh fort suicide, nahargarh fort suicide, nahargarh fort chetan saini suicide case, jaipur nahargarh fort chetan saini suicide fsl report, hindi news

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here