जहर के प्याले के साथ सेल्फी लेकर दो सहेलियों ने सुसाइड किया

0
35027

नई दिल्ली. इंदौर के विजय नगर थाना क्षेत्र में दो सहेलियों ने पहले केक काटा फिर जहर के प्याले के साथ सेल्फी ली. इसके बाद जहर के प्याले को पीकर सुसाइड कर ली. यह सनसनीखेज घटना मंगलवार की है. दोनों सहेलियों के पास से अपने-अपने सुसाइड नोट भी मिले हैं, जिनमें दोनों ने जिंदगी से परेशान होने की बात लिखी है.

विजय नगर टीआई एसके दास के अनुसार, दोनों सहेलियां दो मंजिला मकान की पहली मंजिल पर एक फ्लैट में रहती थीं. इनकी पहचान रचना चौधरी (27) और तन्वी वास्कले (25) के रूप में हुई. रचना धार की और तन्वी बड़वानी जिले के गोमिया बलखड़ गांव की रहने वाली थी. इनके पास से मिले सुसाइड नोट में 27 अगस्त की तारीख है. इसे देखते हुए पुलिस का मानना है कि 27 की देर रात या 28 की सुबह इन्होंने सुसाइड किया है.

पुलिस ने उनके फ्लैट से प्याले, प्लेट, डायरी, सुसाइड नोट, कुछ बोतलें व उनके मोबाइल को भी जब्त किया है. उन्होंने वॉट्सएप के मैसेज, आने-जाने वाले कॉल की लिस्ट सहित अन्य जानकारियां डिलीट कर दी थी. हालांकि फोटो जरूर मिले हैं जो दोनों ने आत्महत्या से पहले लिए थे. दोनों ने जाम की तरह जहर के प्याले टकराते हुए फोटो लिए. एक-दो फोटो में उनके आंसू भी दिखाई दे रहे हैं.

रचना फाइनेंस कंपनी के कॉल सेंटर में काम करती थीं तो तन्वी कैटरिंग का काम करती थी. रचना के साथी कर्मचारी भूपेंद्र ने बताया कि दो दिन से रचना फोन नहीं उठा रही थी. हमें लगा कि उसकी तबीयत खराब है. हम उसके घर पहुंचे तो दरवाजा अंदर से बंद था. आसपास वालों ने बताया कि रविवार से उन्होंने दरवाजा नहीं खोला. मामला गड़बड़ देख मकान मालिक को फोन किया.

मकान मालिक का बेटा पहुंचा. उसके बाद आत्महत्या का पता चला. कर्मचारियों ने बताया कि रचना के जीवन में परेशानियां तो थीं, लेकिन वह सामान्य थी. आठ-दस दिन से तो वह खुश थी. उसकी बातों से कभी ऐसा नहीं लगा कि वह इस तरह का कदम उठा लेगी. फेसबुक पर उसके जितने भी अपडेट रहते थे. वह दुख व मायूसी भरे रहते थे.

सुहागिन की तरह विदा मत करना
पुलिस के मुताबिक, रचना शादीशुदा थी. उसका छह साल का युग नाम का एक बेटा भी है, जो धार में नाना-नानी के यहां रहता है. उसका देवास में रहने वाले पति से तलाक को लेकर केस चल रहा था. दोनों चार साल से अलग हैं. उसके पास से दो पेज का सुसाइड नोट मिला है, जिसमें लिखा है- मैं जिंदगी से परेशान हो चुकी हूं. मैं खुद अपनी आत्महत्या की जिम्मेदार हूं. पति (अशोक) से नफरत करती हूं. मैं मरकर भी नहीं मर सकती. मेरी लाश को उसे हाथ भी मत लगाने देना.

मेरा अंतिम संस्कार सुहागिन की तरह मत करना. युग को माता-पिता की परवरिश की जरूरत है. इसलिए हम उसकी परवरिश ठीक से नहीं कर पाते. आप लोग (नाना-नानी) उसका ध्यान रखना और माता-पिता की तरह उसकी परवरिश करना. वहीं तन्वी ने एक पेज के सुसाइड नोट में बहनों के लिए लिखा है- मैं जिंदगी से थक चुकी हूं. आत्महत्या की मैं खुद जिम्मेदार हूं. किसी को परेशान ना किया जाए. आप लोग अपना ध्यान रखना.

Indore Two Girls commit suicide with poison cups in Indore

Tags: Indore Two Girls Suicide,  Indore Girls Suicide, Indore Two Girls Suicide By Poison, Khudkhusi Note, Indore Girls Suicide before Selfies, Poison cups, Indore, Hindi News

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here