भारत की 3 नए स्थल यूनेस्को की विश्व धरोहर में शामिल

0
691

nalanda-700नई दिल्ली : यूनेस्को ने रविवार को चंडीगढ़ के केपीटोल कांप्लेक्स और सिक्किम के कंचनचंघा पार्क को अपने विश्व विरासत स्थलों में शामिल कर इस साल भारत से जुड़े तीनों नामांकनों को मंजूरी दे दी। जबकि इससे दो दिन पहले बिहार में नालंदा विश्वविद्यालय के पुरातात्विक स्थल को मंजूरी दी गयी थी।

संस्कृति मंत्रालय के एक अधिकारी ने बताया कि पहली बार है जब किसी देश के तीन स्थलों को समिति की बैठक के एक ही सत्र में विश्व विरासत सूची में जगह मिली हो।

kanchenjunga-national-parkभारत के संस्कृति मंत्रालय ने ट्वीट किया, ‘बहुप्रतिक्षित सपना पूरा हुआ। चंडीगढ़ का कैपिटोल कांप्लेक्स अब विश्व धरोहर स्थल है। शुक्रिया यूनेस्को रूचिरा कम्बोज।’ रूचिरा कम्बोज यूनेस्को में भारत की दूत हैं।

एक अन्य ट्वीट में यूनेस्को महानिदेशक इरिना बोकोवा को टैग करते हुए मंत्रालय ने कहा, ‘भारत का कंचनजंघा राष्ट्रीय पार्क अब विश्व विरासत स्थल है। शुक्रिया यूनेस्को-इरिनाबोकोवा।’ कैपिटोल कांप्लेक्स सात देशों (फ्रांस, स्विटजरलैंड, बेल्जियम, जर्मनी, अर्जेंटीना, जापान और भारत) में 17 स्थलों का एक हिस्सा है जिसकी रूपरेखा फ्रांस-स्विटजरलैंड के वास्तुकार ले करबुसियर ने बनायी थी। उन्होंने 1950 के दशक में चंडीगढ की योजना निरूपित की थी।

Capitol Complex Chandigarhअन्य मुख्य पहचान में सिक्किम का कंचनजंघा राष्ट्रीय पार्क है। इसके अलावा एंटीगुआ नेवल डॉकयार्ड तथा संबंधित पुरातात्विक स्थलों (एंटीगुआ और बारबुडा) तथा पाम्पुल्हा मॉडर्न एन्सेम्बले (ब्राजील) को भी धरोहर सूची में शामिल किया गया है।

India’s World Heritage sites

Tags: UNESCO, India’s UNESCO World Heritage sites, Capitol Complex Chandigarh, Kancnchanga park Sikkim, India’s World Heritage sites, India’s world heritage archaeological site, Nalanda University, Hindi News

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here