’एक देश एक टैक्स’ का सपना साकार, आधी रात को संसद में घंटा बजाकर GST लागू

0
897

नई दिल्ली. शुक्रवार आधी रात को ’एक देश एक टैक्स’ का सपना साकार हो गया. बहुप्रतिक्षित वस्तु एवं सेवाकर यानी GST लागू हो गया. राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने रात ठीक 12 बजे संसद के सेंट्रल हॉल में घंटा बजाकर GST लागू कर दिया.

GST के लागू होते ही वैट, सेवा कर और केंद्रीय उत्पाद शुल्क जैसे केंद्र और राज्यों के 17 कर समाप्त हो गए हैं. अब वस्तुओं और सेवाओं पर जीएसटी की चार दरें 05, 12, 18 और 28 फीसद लागू की जाएंगी.

इस मौके पर अपने संबोधन में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने GST को गुड एंड सिंपल (अच्छा और सरल) टैक्स करार दिया. इससे देश में व्यापार करना आसान हो जाएगा. उन्होंने कहा कि यह किसी एक दल या सरकार की सिद्धि नहीं है. यह हम सभी के प्रयासों का नतीजा है.

राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी ने कहा कि यह ऐतिहासिक क्षण दिसंबर 2002 में शुरू हुई लंबी यात्रा की परिणति है. उन्होंने GST को राज्य सरकारों की सहमति और देशहित में सबके साथ आने का प्रतीक बताया. बताते चलें कि 2011 में वित्त मंत्री की हैसियत से प्रणब ने ही जीएसटी को संसद के पटल पर रखा था.

वित्त मंत्री अरुण जेटली ने कहा कि हम भारत के विकास में ऐतिहासिक फैसला करने जा रहे हैं. यह भारत की एक नई शुरुआत होगी.

संसद के केंद्रीय कक्ष में हुए आयोजन से कांग्रेस सहित कुछ विपक्षी पार्टियों ने खुद को दूर रखा. इसलिए पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह कार्यक्रम में नहीं आए. हालांकि, एचडी देवेगौड़ा और राकांपा नेता शरद पवार इस मौके पर मौजूद थे. जदयू का प्रतिनिधि भी कार्यक्रम में शामिल हुआ.

Goods and service tax-GST launched in India

Tags: GST launch, Goods and service tax, GST launch 2017, One country one Tax, Goods and service tax launched, Narendra Modi, Pranab Mukherjee, Hindi News

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here