भारत में बिस्कुट की सालाना कमाई 37500 करोड़ रुपये 

0
624
cookies-placed-in-column_1187-2496हेल्थ डेस्क: सुबह का नाश्ता और चाय के साथ बिस्कुटए दोहपहर  की हल्की भूख और शाम की चाय के साथ बिस्कुट एक अच्छा भूख़ मिटाने के लिये प्रयाप्त खाद्य सामग्री है. अकेले रहने वालों के लिए बिस्कुट एक अच्छा  भोजन है ही जिसे देर रात खाकर भूख को मिटाया जा सकता है। बिस्कुट मैन्युफैक्चरर्स वेलफेयर एसोसिएशन के मुताबिक भारतीयों ने बीते साल लगभग 36 लाख टन बिस्कुट खाये है। 1 रूपये कि छोटी  कीमत में भी आसानी से मिलने वाले बिस्कुट में अधिक नुकसान नहीं  होता और यह खूबी  इसे हर किसी का मनपसंद  बना देती है। एक अनुमान के अनुसार भारत  में बिस्कुट की 37500 करोड़ रुपये की साल भर की  बिक्री होती है।
राज्यों में बिस्कुट की खपत
1.90 लाख टन. महाराष्ट्र
1.78 लाख टन. उत्तर प्रदेश व उत्तराखंड
1.11 लाख टन. तमिलनाडु
1.02 लाख टन. पश्चिम बंगाल
93 हजार टन. कर्नाटक
80 हजार टन. मध्य प्रदेश और छत्तीसगढ़
72 हजार टन. गुजरात
62.5 हजार टन. बिहार और झारखंड
62 हजार टन. राजस्थान
52.5 हजार टन. आंध्र प्रदेश
दक्षिण भारत  में ग्लूकोज बिस्कुट की खपत अधिक
एसोसिएशन अध्यक्ष के अनुसार दक्षिणी राज्यों में सौ रुपये तक कीमत के बिस्कुट बिकते हैए जिनमें ग्लूकोज बिस्कुट सबसे ज़यादा पसंद करते हैण् वहां के लोग बिस्कुट का यूज़  खाने  में करते है। दिनभर काम के दौरान बिस्कुट से ही अपना पेट भर लेते है।
Biscuit Manufacturers Welfare Association Sale Report 2016
Tags: Biscuit Manufacturers Welfare Association Report 2016, biscuit sale in India, 36 million tonnes biscuit sale in India, Indians eat biscuits, biscuits business in india, hindi news

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here