राज्यसभा में अमित शाह का डेब्यू, ‘पकौड़ा’ पर भी जवाब दिया

0
165

नई दिल्ली. बीजेपी अध्यक्ष और राज्यसभा सांसद अमित शाह ने सोमवार को संसद में अपने पहले भाषण दिया. इस दौरान वे कांग्रेस पर हमलावर रहे. शाह ने यूपीए सरकार के कार्यकाल का जिक्र करते हुए कहा कि इस दौरान देश में भ्रष्टाचार का बोलबाला था और देश पॉलिसी परैलिसिस का शिकार रहा.

शाह ने पीएम नरेंद्र मोदी के पकौड़ा वाले बयान का भी बचाव किया. साथ ही कांग्रेस के वरिष्ठ नेता और पूर्व वित्त मंत्री पी चिदंबरम के पकौड़ा बेचने की तुलना भिखारी से करने को लेकर दिए बयान पर कांग्रेस पर निशाना साधा. शाह के इस पहले भाषण के दौरान पीएम नरेंद्र मोदी भी सदन में मौजूद थे.

शाह ने कहा, ‘करोड़ों युवा जो छोटे-छोटे स्वरोजगार की दिशा में आगे बढ़ रहे हैं, पकौड़ा बना रहे हैं, उसकी आप भिखारी के साथ तुलना करेंगे. यह किस प्रकार की मानसिकता है. पकौड़ा बनाना कोई शर्म की बात नहीं है. इसकी भिखारी के साथ तुलना करना शर्मनाक बात है. कोई बेरोजगार पकौड़ा बना रहा है. उसकी दूसरी पीढ़ी आगे आएगी. कोई बड़ा उद्योगपति बनेगी. एक चायवाला पीएम बनकर इस सदन में बैठा है.’

राज्यसभा में पहली बार बोलने के लिए उठे शाह ने कांग्रेस के नेतृत्व वाली यूपीए सरकार पर भी निशाना साधा. शाह ने कहा कि 2013 में देश की स्थिति को याद किया जाना चाहिए. तब देश का भविष्य दिशाहीन था. महिलाएं अपने आपको असुरक्षित महसूस करती थीं. सीमाओं की रक्षा करने वाले जवान राजनीतिक अनिर्णय के कारण अपने शौर्य का प्रदर्शन नहीं कर पा रह थे.

शाह ने अपने भाषण में मोदी सरकार की उपलब्धियां भी गिनाईं. शाह ने कहा कि उन्हें साढ़े तीन साल पीछे देखकर आश्चर्य होता है. बजट में घोषित 10 करोड़ लोगों के लिए आयुष्मान भारत योजना का जिक्र कर शाह ने कहा कि भविष्य में इसे ‘नमो हेल्थकेयर’ के नाम से जाना जाएगा.

सरकार पूरा कर रही चुनावी वादा
शाह ने कहा कि साढ़े तीन साल के कार्यकाल में मोदी सरकार ने अपना चुनावी वादा पूरा किया है. शाह ने कहा, 2014 में 30 साल के बाद किसी एक दल को पूर्ण बहुमत मिला और आजादी के बाद पहली बार किसी दल की पूर्ण बहुमत वाली सरकार बनी. नरेंद्र मोदी को जब एनडीए का नेता चुना गया तो उन्होंने ऐतिहासिक भाषण दिया था. मोदी ने कहा था कि जो सरकार बनने जा रही है, वह गरीबों, पिछड़ों, पीड़ितों, युवाओं और महिलाओं की सरकार होगी. सरकार के तीन साल हो गए. सरकार अंत्योदय के सिद्धांत पर आगे बढ़ रही है. अंत्योदय का मतलब विकास की पंक्ति में आखिर में खड़ा व्यक्ति को अग्रिम पंक्ति में खड़े लोगों को बराबर करना.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here