अमरनाथ यात्रियों पर हमला, गुजरात के 7 श्रद्धालुओं की मौत

0
10168

श्रीनगरः आतंकियों ने सोमवार रात करीब साढ़े आठ बजे जम्मू-कश्मीर के अनंतनाग जिले के बटेंगू में अमरनाथ तीर्थयात्रियों की बस पर हमला किया. इसमें सात यात्रियों की जान चली गई और 20 से अधिक यात्री घायल हुए है. सभी मृतक गुजरात के वलसाड़ के रहने वाले. बाइक से आए आतंकियों ने तीर्थयात्रियों की बस पर अंधाधुंध गोलियां बरसा कर भाग निकले.

मृतकों में छह महिलाएं हैं. जबकि घायलों में पांच पुलिसकर्मी भी हैं. कश्मीर के आईजी मुनीर खान के अनुसार बाइक पर तीन आतंकी सवार थे. इनमें से एक की पहचान इस्माइल के रूप में हुई है. वहीं प्रशासन ने इंटरनेट सेवा को बंद कर दिया है.

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने मारे गए लोगों के प्रति संवेदना जताते हुए कहा कि भारत ऐसे कायराना हमलों के आगे नहीं झुकेगा. उन्होंने जम्मू-कश्मीर के राज्यपाल एनएन वोहरा और मुख्यमंत्री महबूबा मुफ्ती से फोन पर बात की और सभी तरह के सहयोग और सहायता का वादा किया.

वलसाड़ की थी बस
बस में सवार तीर्थयात्री अमरनाथ के दर्शन कर बालटाल के रास्ते मीर बाजार लौट रहे थे. यहां से वे माता वैष्णोदेवी के दर्शन करने कटरा जाने वाले थे. यह बस क्र. जीजे09 जेड 9976 वलसाड के ओम ट्रेवल्स की थी जो अमरनाथ यात्रा बोर्ड में रजिस्टर्ड नहीं थी. इसलिए उसे पुलिस सुरक्षा नहीं मिली थी. आईजी खान ने बताया कि आतंकियों ने पुलिस की बख्तरबंद गाड़ी को निशाना बनाया था. पुलिस व आतंकियों की फायरिंग के बीच यात्रियों की बस चपेट में आ गई. पुलिस का दावा है कि बस के ड्राइवर ने यात्री नियमों का उल्लंघन किया. वह रात 7 बजे बाद यात्री बस को हाईवे पर नहीं लाने के नियम को तोड़ते हुए बस लेकर हाईवे पर लेकर आया था.

25 जून को जारी हुआ था अलर्ट
बाबा बर्फानी के दर्शन की करीब एक माह चलने वाली अमरनाथ यात्रा 29 जून से शुरू हुई है तो 7 अगस्त को रक्षाबंधन तक चलेगी. इसके लिए जम्मू-कश्मीर में समूचे यात्रा मार्ग पर भारी सुरक्षा प्रबंध किए गए थे. बताया गया है कि खुफिया एजेंसियों ने 25 जून को ही श्रद्धालुओं पर आतंकी हमले का अलर्ट जारी कर दिया था.

इस बार सरकार ने दावा किया था कि इस बार कई स्तरों की सुरक्षा की व्यवस्था की गई है. सेना, अर्द्ध सैनिक बल व पुलिस के 40 हजार से ज्यादा जवान सुरक्षा के लिए तैनात किए गए थे. एक-एक यात्री की सुरक्षा सुनिश्चित की गई है. लेकिन फिर भी आतंकी सुरक्षा में सेंध लगाने में कामयाब रहे.

अमरनाथ यात्रियों पर इससे पहले 1 अगस्त 2000 को बड़ा हमला हुआ था, जिसमें 30 लोग मारे गए थे.

आज भी जारी रहेगी यात्रा
इस साल अमरनाथ यात्रा के लिए 2.12 लाख यात्रियों ने रजिस्ट्रेशन कराया है. 9 जुलाई तक 1.34 लाख से ज्यादा दर्शन कर चुके हैं. यात्रा मंगलवार को भी जारी रहेगी.

Amaranth Yatra Attack 2017, 7 killed and 20 injured

Tags: Anantnag attack, amaranth yatra pilgrims, jammu and Kashmir, amaranth yatra 2017, amaranth yatra attack, Amarnath Yatris attacked, Amarnath Yatra, अमरनाथ यात्रा, अमरनाथ यात्रियों पर हमला, अातंकी हमला, Hindi News

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here