मुस्लिम पर्सनल लॉ बोर्ड ने कहा, ट्रिपल तलाक पर मोदी सरकार का विरोध गलत

0
343

aimplb-member_1476343703नई दिल्ली. ऑल इंडिया मुस्लिम पर्सनल लॉ बोर्ड के महासचिव मौलाना मोहम्मद वली रहमानी ने ट्रिपल तलाक के मुद्दे पर गुरुवार को एक प्रेस कॉन्फ्रेंस की. उन्होंने केंद्र की मोदी सरकार पर आरोप लगाया कि ‘‘वह यूनिफार्म सिविल कोड लाकर देश को तोड़ने की कोशिश कर रहे हैं. ट्रिपल तलाक पर सरकार का विरोध गलत है.‘‘

इतना ही नहीं मौलाना रहमानी ने ये भी कहा कि भारत जैसे विविधता में एकता वाले देश के लिए यूनिफार्म सिविल कोड कतई मुनासिब नहीं है. यहां अलग-अलग धर्म के लोग रहते हैं, सभी लोग एक संविधान के मुताबिक रह रहे हैं. सरकार इसको तोड़ने की कोशिश कर रही है.

मौलाना रहमानी ने सरकार पर हमला करते हुए कहा कि जिस अमेरिका की यहां जय की जाती है, वहां भी अलग अलग स्टेट का अपना पर्सनल लॉ है. अलग-अलग आइडेंटिटी है. हमारी सरकार वैसे तो अमेरिका की पिछलग्गू है लेकिन इस मुद्दे पर उसको फॉलो नहीं करना चाहती. उन्होंने ये भी कहा कि पंडित जवाहर लाल नेहरू बड़े दिल के आदमी थे. इसलिए उन्होंने अलग-अलग ट्राइब्स के लिए संविधान में अलग-अलग प्रावधान रखवाया है.

मुस्लिम पर्सनल लॉ बोर्ड के महासचिव मौलाना मोहम्मद वली रहमानी ने इन बातों से किया यूनिफार्म सिविल कोड का विरोध.

1. देश की विविधता बरकरार रहनी चाहिए.

2. ट्रिपल तलाक पर सरकार का विरोध गलत.

3. तीन तलाक पर आयोग का हम बहिष्कार करेंगे.

4. यूनिफॉर्म सिविल कोड संविधान के खिलाफ.

5. देश के भीतर लड़ाई की तैयारी में सरकार.

6. मोदीजी सरहद नहीं संभाल पा रहे हैं.

7. ढाई साल की नाकामियां छुपाने की कोशिश कर रही है सरकार.

8. हम अपनी आवाज बुलंद करेंगे.

9. ऐसा फैसला हम कतई नहीं मानेंगे.

10. पहले दुश्मनों से निपटे मोदी सरकार. अंदर दुश्मन न बनाएं.

All India Muslim Personal Law Board says Triple Talak Oppose is Wrong

Tags: All India Muslim Personal Law Board, Maulana Muhammad Wali Rahmani, Triple Talak, Muslim Divorce, Modi Government, Uniform Civil Code In India, Hindi News

 

 

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here