विवादों में घिरा यूपी पुलिस का एनकाउंटर अभियान, मथुरा मासूम की मौत

0
307

नई दिल्ली. लापरवाही के चलते उत्तर प्रदेश पुलिस द्वारा अपराधियों के विरूद्ध चलाया जा रहा ऑपरेशन आलआउट विवादों में आ गया है. बुधवार को मथुरा में एक एनकाउंटर के दौरान पुलिस की गोली लगने से एक आठ साल के मासूम की जान चली गई. मथुरा की हाईवे थाना पुलिस पास के ही एक गांव में एनकाउंटर करने गई थी. हालांकि वहां कोई अपराधी न तो पकड़ में आया और न ही मारा गया.

इस घटना का एक गंभीर पहलू सामने आया कि पुलिसकर्मी घायल बच्चे को अस्पताल पहुंचाने की जगह उसे लहूलुहान हालत में रास्ते में छोड़कर भाग गए. जिससे ग्रामीण और आक्रोशित हैं.

ग्रामीणों ने पुलिस पर खुलकर लगाए आरोप
अस्पताल पहुंचे ग्रामीणों ने आरोप लगाया कि कुछ पुलिसकर्मी वहां पहुंचे. बेवजह किसी को देखे बगैर फायरिंग करने लगे. जिससे पुलिसकर्मियों की गोली से ही बालक की मौत हुई है. पीड़ित पिता अमरनाथ ने भी आरोप लगाया कि उनके पुत्र की पुलिस की गोली से ही मौत हुई है. उनका आरोप है कि जब पुलिसकर्मी दोषी नहीं थे तो घायल बालक को बीच रास्ते में छोड़कर क्यों भाग गए. पीड़ित ने दोषी पुलिसवालों के खिलाफ निष्पक्ष कार्रवाई करते हुए जेल भेजने की मांग की है. पोस्टमार्टम भी निष्पक्ष पैनल द्वारा कराने की मांग की है.

जानकारी के मुताबिक, एक मुखबिर की सूचना पर हाईवे थाना पुलिस किसी बदमाश को पकड़ने नवादा गांव के एक खेत में दबिश दी थी. इसी दौरान पुलिस की एक गोली वहीं खेल रहे बच्चे माधव के सिर पर जा लगी. जिससे उसकी मौत हो गई. हालांकि पूरे मामले में गौर करने वाली बात ये है कि वहां मौजूद किसी भी चश्मदीद ने किसी बदमाश को देखा ही नहीं. ऐसा लगता है पुलिस ने सिर्फ बदमाश होने के अंदेशे में गोलियां चला दी.

पुलिस की गोली से बच्चे की मौत की खबर फैली तो पुलिस महकमे में हड़कंप मच गया. आनन-फानन में आला अधिकारी बच्चे के घरवालों से मिले. उन्हें सांत्वना दी और मुआवजे का एलान किया. डीएम सर्वज्ञराम मिश्र ने बताया कि ये बहुत दुखद है. इस दुख की घड़ी में पूरा प्रशासन पीड़ित परिवार के साथ है. सीएम ने 5 लाख के मुआवजे की घोषणा की है.

इस बीच यूपी पुलिस ने पूरे मामले की जांच का भी एलान कर दिया है. एसएसपी स्वप्निल ममगई ने बताया कि एनकाउंटर की जांच कराई जा रही है. हालांकि, एनकाउंटर का सच क्या है ये जानना जरूरी है? उम्मीद है जल्द जांच रिपोर्ट आएगी और सच्चाई का पता चल जाएगा. यूपी में एनकाउंटर को लेकर मानवाधिकार आयोग पहले ही सवाल खड़े कर चुका है.

8 year old boy dies in mathura uttar pradesh police encounter

Tags: uttar pradesh police encounter, mathura police encounter, 8 year old boy dies in mathura police encounter, UP Police Operation All Out, Latest hindi News

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here