दिल्ली की प्राइवेट स्कूल के टॉयलेट में छात्र का शव मिला

0
136

नई दिल्ली. दिल्ली के एक स्कूल में गुरुग्राम जैसी घटना सामने आई है. उत्तर-पूर्व दिल्ली के करावल नगर के एक निजी स्कूल के टॉयलेट में एक 14 वर्षीय लड़के का शव मिला है. परिजनों का आरोप है कि उसके स्कूल के दोस्तों ने इतना पीटा की उसकी मौत हो गई. 9वीं कक्षा के इस छात्र की शिनाख्त तुषार के रूप में हुई है.

तुषार सादत नगर स्थित जीवन ज्योति पब्लिक स्कूल में का छात्र था. गुरुवार सुबह वह रोज की तरह घर से स्कूल जाने के लिए निकला था. वह स्कूल पहुंचा भी और करीब साढ़े दस बजे छात्रों ने उसे स्कूल के बाथरूम में पड़े देखा. टॉयलेट में बेहोश मिला था तुषार सूचना मिलने पर स्कूल प्रशासन उसे लेकर जीटीबी अस्पताल पहुंचा, जहां डॉक्टरों ने उसे मृत घोषित कर दिया. परिजनों का आरोप है कि कुछ छात्रों से झगड़ा होने के बाद उसे स्कूल के छात्रों ने पीट-पीटकर मौत के घाट उतार दिया गया.

दूसरी ओर स्कूल प्रशासन का कहना है कि छात्र को बार-बार दस्त आ रहे थे. जिसकी वजह से वह अचेत हो गया और उसकी मौत हो गई. खजूरी खास थाने की पुलिस ने शव को पोस्टमार्टम के लिए भेज मामले की जांच आरंभ कर दी है. पुलिस को सीसीटीवी कैमरों में तुषार के टॉयलेट में जाने के बाद कुछ छात्र टॉयलेट में जाते दिख रहे हैं. पुलिस उन छात्रों से पूछताछ कर रही है. मृतक छात्र के शरीर पर किसी चोट के निशान नहीं मिले पुलिस के मुताबिक मृतक छात्र के शरीर पर चोट के निशान नहीं मिले हैं. पुलिस ने अज्ञात व्यक्तियों के खिलाफ हत्या का मामला दर्ज किया है. पुलिस का कहना है कि उन्हें पोस्टमार्ट रिपोर्ट का इंतजार है. उसके बाद वह कार्रवाई को आगे बढ़ाएंगे. मृतक का शुक्रवार को पोस्टमार्टम होना है. इसके लिए तीन डॉक्टरों की टीम का गठन किया गया है.

पुलिस उपायुक्त (उत्तर-पूर्व) ए के सिंगला ने बताया कि लगभग 10.30 बजे लड़के स्कूल के शौचालय में बेहोश पाया गया था. जिसके बात स्कूल के छात्रों ने इसकी सूचना स्कूल प्रशासन को दी. स्कूल प्रशासन छात्र को पहले प्राइवेट हॉस्पिटल ले गए. इसके बाद उसे दिलशाद गार्डन स्थित गुरुतेज बहादुर हॉस्पिटल ले जाया गया. जहां डॉक्टरों ने उसे मृत घोषित कर दिया. तुषार की मौत साढ़े दस हो गई थी तुषार परिवार के साथ करावल नगर इलाके में तुकनीर नगर के गली नंबर-3 में रहता था. इसके परिवार में पिता सुनील कुमार और मां निशा है. तुषार अपने परिवार का इकलौता बच्चा था. इसके पिता एमसीडी में चतुर्थ श्रेणी कर्मचारी हैं. परिजनों को जीटीबी अस्पताल से टीचर्स ने तुषार की तबीयत खराब होने की सूचना दी गई थी. अस्पताल पहुंचने पर पता चला कि उसकी मौत हो चुकी है. परिजनों का आरोप है कि तुषार की मौत साढ़े दस हो गई थी, लेकिन स्कूल ने जीटीबी अस्पताल से इसकी सूचना 12 बजे दी गई. पुलिस इस मामले की जांच के लिए सीसीटीवी फुटेज तलाश रही है.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here