हॉकिंग का दावा, मानव के अस्तित्व को बचाना है तो 100 साल में पृथ्वी को छोड़ना होगा

0
978

लंदन: महान भौतिकविद् स्टीफन हॉकिंग ने दावा किया है कि मानव जाति का अस्तित्व बचाने के लिए हमें 100 के अंदर अंदर पृथ्वी छोड़नी होगी. उनका कहना है कि जलवायु परिवर्तन, बढ़ती आबादी और उल्का पिंडों के टकराव को देखते हुए खुद को बचाए रखने के लिए मनुष्य को दूसरी धरती खोज लेनी चाहिए. 100 साल बाद पृथ्वी पर मानव का बचे रहना मुश्किल होगा.

बीबीसी की डॉक्यूमेंटरी एक्पेडिशन न्यू अर्थ में हॉकिंग और उनके छात्र रहे क्रिस्टोफ गलफर्ड इस बात की पड़ताल करते नजर आएंगे कि मनुष्य बाहरी दुनिया में कैसे रह सकते हैं. इसी डॉक्यूमेंटरी में हॉकिंग ने दावा किया है कि धरती पर रहने का वक्त खत्म हो रहा है. बचे रहने के लिए मानव जाति को किसी दूसरे ग्रह पर व्यवस्था तलाशनी होगी. यह डॉक्यूमेंटरी बीबीसी के विज्ञान आधारित शो टूमारोज वर्ल्ड का हिस्सा है.

द टेलीग्राफ के मुताबिक, शो में लोगों से ब्रिटेन के महान अविष्कारों के बारे में पूछा जाएगा. इसमें लोगों से यह पूछा जाएगा कि किस अविष्कार ने उनके जीवन को सर्वाधिक प्रभावित किया. हॉकिंग ने पिछले महीने भी चेताया था कि तकनीकी विकास के साथ मिलकर मनुष्य की आक्रामक प्रवृत्ति घातक हो सकती है. यह प्रवृत्ति परमाणु या जैव युद्ध के जरिये सब कुछ नष्ट होने का कारण बन सकती है.

उनका कहना था कि ऐसी आशंकाओं से बचने के लिए वैश्विक सरकार की आवश्यकता होगी. हॉकिंग का मानना है कि मनुष्य बतौर प्रजाति जीवित रहने की योग्यता खो सकता है.

Tags: Stephen Hawking, Stephen Hawking Warning, climate changes, earth climate, great physicist Stephen Hawking, humans find other earth to survive, world news, Hindi news

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here